बोरी भर के सिक्के लेकर चले गए बैंक,फिर बैंक वालो ने क्या किया?

दोस्तों क्या आपने कभी सोचा है, यदि आप किसी बैंक में बोरी भर कर सिक्के अपने खाते में जमा करवाने लें गए तो क्या होगा।

दोस्तों आज मैं इस लेख के माध्यम से आप सभी को सिक्के से जुड़े बेहतरीन जानकारी दूँगा।

इस लेख में हम जानेगे की ये सिक्के कहाँ बनते है।
आप इसे कैसे पहचान सकते है।यदि आप बैंक में बहुत सारे सिक्के जमा करने के लिए लें गए तो क्या होगा।तो दोस्तों लेख के अंत तक बने रहिये।

दोस्तों भारत में सिक्के की मिंटिंग का काम RBI(भारतीय रिसर्व बैंक ऑफ़ इडिया )के दिशा निर्देश के अनुसार किया जाता है,और जिस जगहे यह मिंटिंग का काम होता है उस जगहे को टकशाल कहा जाता है।

भारत में यह टकशाल कुल चार हैं :-
1) मुंबई
2) अलीपुर,कोलकाता
3) सैफबाद चेराल्पल्ली, हैदराबाद
4) नॉएडा, उत्तरप्रदेश
इन सभी टकशालों में सिक्के का मिंटिंग का कार्य किया जाता है।

आइये जानते हैं, कि कैसे आप पहचान सकते हैं, कि कौन सा सिक्का किस जगहे में मिंट हुआ है, इसके लिए बेहतर होगा कि आपके पास कोई सिक्का हो तो उसे अपने हाथ में रख लें और ध्यान से देखे, कि सिक्के में सिक्के कि बनने कि तिथि लिखी हुई है और उस तिथि के नीचे एक डाइमंड, या स्टार, या डॉट बना होगा, या फिर यह जगह खाली होगा और यही वह निसान है जिससे हम समझ सकते है कि कौन सा सिक्का, कहाँ बना है।

आइये इसे वर्गीकृत करते है।
1) मुंबई – ♦️
2)अलीपुर,कोलकाता – खाली रहता है।
3) सैफाबाद चेराल्पल्ली, हैदराबाद -⭐
4) नॉएडा, उत्तरप्रदेश – ⚫

दोस्तों जैसा कि आप सभी ने शीर्षक में देखा कि यदि कोई व्यक्ति सिक्के से भरे बोरी को बैंक में जमा करने ले जाए तो क्या होगा, आइये इस बारे में समझते है।

जब RBI सिक्कों को मिंट करती है, तो सभी सिक्के सामान साइज़ और एक समान वजन के होते है, और चाहे जितने रकम के सिक्के हो RBI उसको वज़न के अनुसार ही पैकेटों में भर कर बैंक को देती है,फिर बैंक इसे पैकेटों में ही मार्किट तक पहुंचते है।

आइये एक नज़र इनके साइज़ और वज़न पर डालते है।

DENOMINATION WEIGHT DIAMETER SHAPE
5 Rs coin (New) 6.00gms 23 mm Circular
5 Rs coin (Old) 9.00gms 23 mm Circular
2 Rs coin (New) 5.62gms 27 mm Circular
2 Rs coin (Old) 6.00gms 26 mm Eleven sided
1 Rs coin 4.85gms 25 mm Circular
10 Rs coin 7.71gms 27 mm Circular
2 Rs (2011 Rupee symbol series) 4.85gms 25 mm Circular
1 Rs (2011 Rupee symbol series) 3.79gms 23 mm Circular

 

यदि आप बोरी भर के सिक्के अपने खाते में जमा कराने चले जाए, तो बैंक वाले आपके सिक्कों को लेने से मना कर सकता है, ज़्यदा से ज़्यदा 1हज़ार रूपये तक का सिक्का ही वह एक बार में आपसे लें सकता है, और आपके सिक्के उसी तरह पैकेट में हो जैसा की RBI Bank को देती है, तब बैंक आपके सिक्के को आपके खाते में जमा रख सकता है।
वर्तमान में कई बैंक ऐसे भी हैं जो 50 रुपय से निचे के नोटों और सिक्कों को अपने पास जमा रखने के लिए आपके खाते से अलग से चार्ज काट लेते है,तो इस बात का खास ध्यान रखे और नुकसान से बचें।

1 thought on “बोरी भर के सिक्के लेकर चले गए बैंक,फिर बैंक वालो ने क्या किया?”

Leave a Comment